Untitled Document
 Untitled Document
पुस्तक सूची

निविदा

प्रकाशन की संशोधित दर



श्री कृष्ण नन्दन प्रसाद वर्मा
माननीय शिक्षा मंत्री, बिहार

श्री दिनेश चन्द्र झा
अध्यक्ष-सह-निदेशक

श्री दिनेश चन्द्र झा

उद्धेश्य

           बिहार हिन्दी ग्रन्थ अकादमी की स्थापना का मुख्य उद्देश्य विश्‍वविद्यालय के छात्रों/प्राध्यापकों के लिए माध्यम परिवर्तन की भाषा मीडियम ऑफ इन्स्ट्रक्शन के रूप में हिन्दी का विकास, प्रचार-प्रसार करना है ।

  • विश्‍वविद्यालयों में पढ़ाये जानेवाले विभिन्न विषयों के मौलिक एवं स्तरीय पाठ्य एवं संदर्भ ग्रन्थ हिन्दी में सुलभ करना- उनका निर्माण और प्रकाशन ।
  • अन्य भाषाओं के अत्यन्त उपयोगी पाठ्य-ग्रन्थों और संदर्भ ग्रन्थों का अनुवाद करना और उनका प्रकाशन ।
  • अन्य भाषाओं के ग्रन्थों का देश की स्थिति और विश्‍वविद्यालयों की आवश्यकता के अनुरूप रूपान्तर और प्रकाशन ।
  • भारत सरकार, मानव संसाधन विकास मंत्रालय के निर्देश पर कल्याणकारी योजना वेलफेयर स्कीम के तहत नो-प्रौफिट- नो लौस के सिद्धान्त के आधार पर विश्‍वविद्यालय स्तरीय पुस्तकों का हिन्दी में मौलिक/अनुवाद एवं प्रकाशन के द्वारा न्यूनतम कीमत पर अधिकाधिक छात्रों, प्राध्यापकों एवं आम पाठकों तक पुस्तकें सुलभ कराने का कार्य करना ।
  • विश्‍वविद्यालय के प्राध्यापकों को हिन्दी माध्यम से शिक्षा देने में सहायता की दृष्टि से हिन्दीकरण पाठ्यक्रम सत्रों और शब्दावली कार्यशाला का आयोजन करना और योजना को सफल कराने के लिए अन्य आवश्यक कार्य करना, जैसे:- प्रकाशित पुस्तकों के व्यापक प्रचार-प्रसारका कार्य करना- पुस्तक मेला, संगोष्ठियों, व्याख्यानों द्वारा अधिक -से- अधिक पाठकों तक पहुचाना ।
  • हिन्दी में विभिन्न विषयों के ग्रंथों की विद्यमानता तथा प्रकाशन की सूचना सम्बद्ध क्षेत्रों तक पहुँचाना है। बिहार हिन्दी ग्रन्थ अकादमी अन्य क्षेत्रीय भाषाओं की अकादमियों से विल्कुल भिन्न है । इसका उद्देश्य राष्ट्रीय मह्त्त्व का है और यह हिन्दी में विश्‍वविद्यालय स्तर की पुस्तकें छापती है।
Untitled Document